Food Health Home Remedies

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ(Immunity Booster Food)

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ
kiran
Written by kiran

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ (Immunity Booster Food)

मौसम तथा इनमें से होने वाली बीमारियों के चलते हमारा शरीर फ्लू तथा सर्दी आदि के शिकार हो जाता है। यक़ीनन हम सभी ऐसी छोटी मोटी बीमारियों के लिए दवाइयां लेते हैं परंतु यह दवाई जितनी हमें इन्सान बीमारियों से छुटकारा दिलाने में कारगर साबित होती है उतनी ही हमारे शरीर को नुक़सान भी पहुँचाते हैं। इसी कारण  हमारी प्रतिरोधक क्षमता इन बीमारियों के आगे फीकी पड़ जाती हैं। आज हमारे इस आर्टिकल में हम आप सभी को ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताएंगे जिनसे आप अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सफल होंगे।

 खट्टे फल

 ठंड खत्म होने के बाद लगने के बाद ज्यादातर लोग विटामिन सी को खाना पसंद करते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि यह प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ाने में मदद करता है। विटामिन सी सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाने का काम करता है। ये संक्रमण से लड़ने के लिए भी बहुत मदद करता हैं। खट्टे फलों में शामिल है अंगूर, संतरे, कीनू, नींबू, क्लेमेंटाइन।

 लाल शिमला मिर्च

 अगर आपको लगता है कि खट्टे फलों में ही सबसे ज्यादा विटामिन सी होता है, तो आपका ऐसा सोचना गलत है। आपको बता दें की लाल शिमला मिर्च में साइट्रस (carotene) के मुकाबले दोगुना विटामिन सी होता है। वे बीटा कैरोटीन का एक समृद्ध स्रोत भी हैं। शिमला मिर्च आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के अलावा, विटामिन सी के साथ स्वस्थ त्वचा को भी बनाए रखने में मदद कर सकता है। बीटा कैरोटीन आपकी आंखों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

 ब्रोकोली

 ब्रोकोली विटामिन और कई खनिज पदार्थो से भरपूर है। इसमें विटामिन ए, सी, और ई के साथ-साथ कई अन्य एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर मौजूद होते हैं। ब्रोकोली उन स्वास्थ्यप्रद सब्जियों में से एक है इसका सेवन आपको स्वस्थ रखने के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है।

 लहसुन

 लहसुन का प्रयोग दुनिया में लगभग हर व्यंजन में किया जाता है। यह आपके स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। दरअसल यह संक्रमण से लड़ने में भी मदद करता है। नेशनल सेंटर फॉर कॉम्प्लिमेंटरी एंड इंटीग्रेटिव हेल्थट्रस्टेड सोर्स के अनुसार, लहसुन निम्न रक्तचाप और धमनियों को सख्त बनाने में मदद कर सकता है। लहसुन रोग प्रतिरोधक क्षमता-बढ़ाने वाले गुण से भरपूर है।

 अदरक

 बीमार होने के बाद अदरक  का इस्तेमाल आपको रोगों से लड़ने में मदद करता है। अदरक शरीर में होने वाली सूजन को कम करने का कामभी करता है।ये जुकाम में होने वाली गले की खराश और अन्य सूजन संबंधी बीमारियों को कम करने में मदद कर सकता है। अदरक मतली को कम करने में भी मदद कर सकता है। अदरक क्रोनिक दर्द को कम करने में मदद कर सकता है और कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले गुण भी इसमें होते है और यह इम्युनिटी बढ़ाने का भी काम करता है।

 पालक

 पालक ने इस सूची में जगह इसलिए बनाई क्योंकि यह विटामिन सी से भरपूर है। यह कई एंटीऑक्सिडेंट और बीटा कैरोटीन से भरपूर होता है, जिससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है ये प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। ब्रोकोली के समान, पालक भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, लेकिन जब तक कि इसे कम से कम पकाया जाता है ताकि यह अपने पोषक तत्वों को बरकरार रखे। हालांकि, हल्का खाना पकाने से उसके विटामिन ए में वृद्धि होती है और अन्य पोषक तत्वों को ऑक्सालिक एसिड से मुक्त हो जाते हैं।

बादाम

 जब जुकाम को रोकने और लड़ने की बात आती है, तो विटामिन ई विटामिन सी ही एक अच्छा विकल्प होता है। हालांकि, विटामिन ई एक प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। यह वसा में घुलनशील विटामिन होता है, जिसका अर्थ है कि वसा की उपस्थिति को ठीक से अवशोषित किया जाना । नट्स, जैसे बादाम, विटामिन के साथ स्वस्थ वसा भी हैं।

 हल्दी

 हिंदुस्तान के लगभग सभी घरों में हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आपको ये मालूम है कि यह ऑस्टियोआर्थराइटिस और रुमेटीइड गठिया दोनों के इलाज के लिए इसका प्रयोग वर्षों से किया जा रहा है। इसके अलावा, रिसर्चट्रेड्ड सोर्स से पता चलता है कि कर्क्यूमिन (curcumin)  जो इसे गहरा पीला  रंग देती है इसमें एंटी इन्फ्लैमटेरी गुण भी होते हैं। यह मांसपेशियों की क्षति को कम करने में मदद करती है।

 पपीता

पपीता विटामिन सी से भरपूर है। आप एक ही पपीते में विटामिन सी की अनुशंसित मात्रा को पूरा कर सकते हैं। पपीते में पपैन नामक एक पाचक एंजाइम भी होता है, जिसमें सूजन-रोधी प्रभाव होते हैं। पपीते में पोटैशियम, विटामिन बी और फोलेट की अच्छी मात्रा होती है, जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है।

 कीवी

पपीते की तरह, कीवी भी स्वाभाविक रूप से आवश्यक पोषक तत्वों के एक हैं, जिनमें फोलेट, पोटैशियम, विटामिन के, और विटामिन सी शामिल हैं। विटामिन सी संक्रमण से लड़ने के लिए सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाता है, जबकि कीवी के अन्य पोषक तत्व आपके शरीर के बाकी हिस्सों को ठीक से काम करने में मदद करते हैं और यह रोग प्रतिरधाक क्षमता को भी बढ़ाती है।

अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आपको सही भोजन करना चाहिए। जो आपको फ्लू, सर्दी, और अन्य बीमारियों से बचाने का काम करता है। यदि आपको बहुत जल्दी मामूली संक्रमण होता है तो आपको इन सभी चीजों का सेवन करना चाहिए। ये आपको कई तरह की बीमारियों से बचाएंगे और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारी दी हुई जानकारी आप सभी के लिए उपयोगी साबित हुई होगी। ऐसे ही अन्य ब्यूटी तथा हेल्थ टिप्स की जानकारी के लिए फ़ॉलो करते रहिए और पढ़ते रहिए लेडीज़ अड्डा।

About the author

kiran

kiran

Leave a Comment

Recommended
लॉकडाउन के चलते हैं हम सभी को बहुत सी परेशानियों…
%d bloggers like this: